आधार : सुरक्षा और गोपनीयता चुनौतियां


आधार कार्यक्रम, भारत की तकनीकी सफलताओं में से एक है। भारत बॉयोमीट्रिक डेटा से जुड़े राष्ट्रीय पहचान कार्यक्रम के कार्यान्वयन में रास्ता तय कर रहा है। मार्च 2017 तक, भारत में 113 करोड़ निवासियों के पास आधार कार्ड है, जो अनुमानित आबादी का लगभग 88.6 प्रतिशत है।

हालांकि, हाल के दिनों में आधार पर दो आधार पर सवाल उठाया गया है:
·         सुरक्षा
·         चुनौतियां

प्रमुख गोपनीयता और सुरक्षा चिंता क्या है?
·         आधार जन निगरानी प्रौद्योगिकी है। निगरानी, ​​जोकि एक अच्छी बात है और राष्ट्रीय सुरक्षा और सार्वजनिक आदेश के लिए यह आवश्यक भी है।
·         इसके अलावा, विशेषज्ञों का तर्क है कि लक्षित (targeted) निगरानी के लिए बॉयोमीट्रिक जानकारी आवश्यक है, लेकिन राज्य और कानून पालन करने वाले नागरिकों के बीच दैनिक लेन-देन के लिए यह उपयुक्त नहीं है। इसका आसानी से दुरुपयोग किया जा सकता है।
·         हालांकि यूआईडीएआई का दावा है कि यह एक शून्य ज्ञान (zero knowledge) डेटाबेस है, जो उच्च स्तर की सुरक्षा का वादा करता है।

आधार में सुरक्षा और डेटा संरक्षण
·         आधार गोपनीयता को शामिल करने के सिद्धांत का पालन करता है. यह एक अवधारणा है जिसमें कहा गया है कि आईटी परियोजनाओं को गोपनीयता के साथ दिमाग में डिजाइन किया जाना चाहिए।
·         आधार केवल न्यूनतम डेटा को एकत्र करता है, जोकि पहचान स्थापित करने के लिए पर्याप्त है। इसमें निवासी के नाम, लिंग, आयु और संचार पते केवल चार तत्व शामिल हैं।
·         यह सुनिश्चित करता है कि इन जानकारियों से कोई प्रोफाइलिंग नहीं की जा सकती, क्योंकि संख्या व्यक्ति के बारे में कुछ भी प्रकट नहीं करती है।
·         आधार अधिनियम में डेटा साझाकरण पर स्पष्ट प्रतिबंध भी हैं। नियमों के अनुसार कोई डेटा डाउनलोड करने की अनुमति नहीं है और न ही खोज की अनुमति नहीं है। केवल एक ही प्रतिक्रिया जो यूआईडीएआई प्रमाणीकरण अनुरोध को देती है वह 'हां' या 'नहीं' है।
·         यूआईडीएआई के बारे में न्यूनतम डेटा के अलावा, यह प्रमाणीकरण के लॉग को छोड़कर कोई डेटा नहीं रखता है। यह प्रमाणीकरण के उद्देश्य को नहीं जानता है। लेनदेन विवरण संबंधित एजेंसी के साथ रहता है, यूआईडीएआई के साथ नहीं।
·         यूआईडीएआई ने एक सुविधा भी बनाई है, जिसमें कोई आधार संख्या 'लॉक' कर सकता है और इसे किसी भी प्रकार की प्रमाणीकरण से किसी भी संभावित दुरुपयोग के खिलाफ सुरक्षा के लिए अक्षम कर सकता है।

गोपनीयता की रक्षा करने की आवश्यकता क्यों है?
·         भारत तेजी से डिजिटल अर्थव्यवस्था बन रहा है। हम देश में अरबों फोन बेच चुके हैं और फिर भी हमारे पास डेटा संरक्षण और गोपनीयता के लिए पुरातन कानून हैं। आईडी चोरी, धोखाधड़ी और गलतफहमी की समस्याएं वास्तविक चिंता बनी हुई हैं।
·         विभिन्न सेवाओं को उपलब्ध कराने, सुरक्षा और अपराध से संबंधित निगरानी बनाए रखने और प्रशासनिक कार्यों को करने के लिए नागरिकों की पहचान, सभी में जानकारी संग्रह शामिल है।
·         हाल के वर्षों में, तकनीकी विकास और उभरती प्रशासनिक चुनौतियों के कारण, नागरिकों से एकत्रित कम्प्यूटरीकृत डेटा का उपयोग करके सूचना प्रौद्योगिकी प्लेटफार्मों के माध्यम से कई राष्ट्रीय कार्यक्रम और योजनाएं लागू की जा रही हैं।
·         इंटरनेट पर अधिक से अधिक लेनदेन किए जाने के साथ, ऐसी जानकारी चोरी और दुरुपयोग के लिए कमजोर कड़ी हैं। इसलिए, यह जरूरी है कि डेटा संग्रह की किसी भी प्रणाली को गोपनीयता जोखिमों में कारक होना चाहिए और नागरिक जानकारी की सुरक्षा के लिए प्रक्रियाओं और प्रणालियों को शामिल करना चाहिए।

IBPS RRB के लिए विशेष दैनिक टॉनिक डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें | For more infomation contact us on these numbers - 9828710134 , 9982234596 .

Dhingra Classes

Selections

भारत के हज़ारो विद्यार्थियों के अनुभव इस बात के सबूत हैं कि धींगड़ा क्लासेज़ ने अनेकों परिवारों को सरकारी नौकरी देकर उनके घर में खुशियों के दीप जलाए हैं। भारत के पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, राजस्थान , दिल्ली आदि के बैंकों, सरकारी कार्यालयों में हमारे कई छात्र सेवारत देखे जा सकते हैं।

Most Resent Selections :



धींगड़ा क्लासेज अपने स्टडी मैटीरियल , आसान विधियों एवं अनुभवी शिक्षकों के कारण जाता है। आईबीपीएस, एसएससी एवं अन्य परीक्षाओं में पूछे गए अधिकांश प्रश्न हू -ब -हू हमारे क्लासरूम प्रोग्राम्स में से पूछे जाते रहे हैं। बैंकिंग परीक्षाओं में हमारे स्टूडेंट्स तीन बार अखिल भारतीय स्तर पर टॉपर्स रहे हैं। धींगड़ा क्लासेज़ ने ग्रामीण क्षेत्र के स्टूडेंट्स को भी लगातार चयनित करवाया है।

Address

New Building, Near City Park, Raisinghnagar, Dist. Sri Ganganagar (Raj.)

Contact Us

9828710134, 9982234596

dhingraclassesrsngr@ gmail.com

Like Us





Powered by Dhingra Classes